<< Back to News

कर्मचारियों की हड़ताल व सामूहिक अवकाश पर प्रतिबंध लगाने वाले आदेश को वापिस ले सरकार - कर्ण चौटाला


सिरसा: भाजपा सरकार ने धरना-प्रर्दशन करने पर रोक लगाने के आदेश को वापिस नही लिया तो इनेलो नेता सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों के साथ मिलकर धरने पर बैठेगें और सरकार को यह आदेश वापिस लेने हेतु मजबुर कर देगें। यह बात ऐलनाबाद के विधायक व नेता प्रतिपक्ष चौ०अभय सिंह चौटाला के सुपुत्र युवा नेता कर्ण चौटाला ने आज जारी ब्यान में कही। चौटाला ने भाजपा सरकार पर बरसते हुए कहा कि इनेलो कभी भी ऐसे आदेश को स्वीकार नहीं करेगी जिससे किसी वर्ग या व्यक्ति के  मौलिक अधिकारों का हनन होता हो।

उन्होनें कहा कि सरकार के इस आदेश का इनेलो डटकर विरोध करती है। युवा नेता ने कहा कि सरकार जनता के अधिकारों पर कुठारा घात करते हुए कर्मचारियों की आवाज को दबाना चाहती है ताकि कर्मचारी सरकार की गलत नितियों का विरोध ना कर सकेंं । इनेलो नेता ने कहा कि धरने-प्रदर्शन पर रोक लगाकर भाजपा ने आपातकाल की याद ताजा करवा दी है। उन्होनें  कहा कि लोकतंत्र की हत्या नही होने दी जायेगी। युवा नेता ने कहा भाजपा नेताओं ने वाहवाही लुटने हेतु चुनावों से पुर्व दर्जनों से अधिक वायदे किए थे जिसमे से अभि-तक एक भी पुरा नही हुआ जिसमें एक पंजाब के समान वेतन मान देने का वायदा भी था। उन्होनें बादल सरकार द्वारा आयोजित सद्भावना रैली की आपार सफलता पर बधाई देते हुए कहा कि बादल सरकार सही दिशा में काम कर रही है। जबकि भाजपा के एक साल के शासन में हर वर्ग दुखी और हताशा में है। इससे सरकार की विफलता स्पष्ट झलकती है।


Forward  



web counter