<< Back to News

इनेलो राज्यकार्यकारिणी की बैठक में जाट आरक्षण की मांग का प्रस्ताव पारित


सिरसा 15 फरवरी : इनेलो ने जाटो को आरक्षण दिये जाने की मांग का समर्थन करते हुए जाटो को साथ-साथ जट सिखं, त्यागी, रोड़ व बिश्रोई जाति को भी आरक्षण दिये जाने की मांग की है। पार्टी राज्यकार्यकारिणी सोमवार को सिरसा में हुई बैठक में इस संबंध में एक प्रस्ताव भी पारित किया गया। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व नेता प्रतिपक्ष चौ०अभय सिंह चौटाला ने की।

बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नितेश कुमार का 6 मार्च को करनाल में एक राज्य स्तरीय समारोह आयोजित कर नागरिक अभिनंदन करने का निर्णय लिया गया। बैठक का संचालन पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने किया। बैठक में पूर्व कृ षि मंत्री जसबिन्द्र सिंह संधू, सांसद चरणजीत रोड़ी, राज्यसभा सदस्य रामकुमार कश्यप, डा. के सी बांगड, रणवीर गंगवा, डा. एमएस मलिक,र्दििग्वजय सिंह चौटाला, मक्खन लाल सिंगला, श्रीमति शीला भ्यान सहित पार्टी के सभी विधायकों,पूर्व विधायकों, प्रदेश पदाधिकारियों, जिला, हलका व शहरी अध्यक्ष और विभिन्न प्रकोष्टों के  प्रदेश व जिला संयोजकों ने भी हिस्सा लिया। 

राज्य कार्यकारिणी में लिये गये निर्णय के अनुसार पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व नेता प्रतिपक्ष चौ०अभय सिंह चौटाला 17 फरवरी से 25 फरवरी तक प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय बैठकों को सम्बोधित करेंगे। इसके तहत 17 फरवरी को झज्जर व रोहतक, 18 फरवरी को मेवात, पलवल व फरीदाबाद, 19 फरवरी को रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़ व भिवानी, 20 फरवरी को सिरसा, फतेहाबाद व कैथल, 23 फरवरी को गुडग़ांव, सोनीपत व पानीपत, 24 फरवरी को कुरूक्षेत्र, यमुनानगर, अम्बाला व पंचकूला और 25 फरवरी को करनाल, जींद व हिसार में जिला स्तरीय बैठकों को सम्बोधित करेंगे। बैठक में प्रदेश में बिगडती कानून व्यवस्था को ठीक किये जाने,बिजली दरों में बढ़ौेतरी वापस लेेने, धान घोटाले की जांच करवाने, नरमे-कपास, गवार, बाजरा की फसलों के हुए नुक्सान का मुआवजा देने और फसल बिमा योजना को दोषपूर्ण बताते हुए इसे स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट के अनुसार किसानों पर कोई बोझ डाले बिना लागू किये जाने की मांग की गई।
राज्य कार्यकारिणी में लिये गये निर्णय के अनुसार पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व नेता प्रतिपक्ष चौ०अभय सिंह चौटाला 17 फरवरी से 25 फरवरी तक प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय बैठकों को सम्बोधित करेंगे। इसके तहत 17 फरवरी को झज्जर व रोहतक, 18 फरवरी को मेवात, पलवल व फरीदाबाद, 19 फरवरी को रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़ व भिवानी, 20 फरवरी को सिरसा, फतेहाबाद व कैथल, 23 फरवरी को गुडग़ांव, सोनीपत व पानीपत, 24 फरवरी को कुरूक्षेत्र, यमुनानगर, अम्बाला व पंचकूला और 25 फरवरी को करनाल, जींद व हिसार में जिला स्तरीय बैठकों को सम्बोधित करेंगे। बैठक में प्रदेश में बिगडती कानून व्यवस्था को ठीक किये जाने,बिजली दरों में बढ़ौेतरी वापस लेेने, धान घोटाले की जांच करवाने, नरमे-कपास, गवार, बाजरा की फसलों के हुए नुक्सान का मुबावजा देने और फसल बीमा योजना को दोषपूर्ण बताते हुए इसे स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट के अनुसार किसानों पर कोई बोझ डाले बिना लागू किये जाने की मांग की गई।

बैठक को सम्बोधित करते हुए चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि नीतिश कुमार को  राजनीति में लाने का श्रेय जननायक चौधरी देवी लाल को जाता है। आज वे बिहार के ही नही बल्कि क ांग्रेस व भाजपा के विकल्प के रूप में देश को नई दिशा देने वाले नेता के रूप में अपनी पहचान बना चुके हैं। उन्होंने इनेलो के पक्ष में लोकसभा व हरियाणा विधानसभा चुनाव में खुलकर प्रचार भी किया था। इनेलो 6 मार्च को करनाल में एक विशाल जनसभा कर प्रदेश की जनता क ी और से उनका नागरिक अभिनंदन करेंगी। उन्होंने बिजली बिलों के खिलाफ दिये जा रहे धरने को बेहद सफल बताते हुए कहा कि अगामी बजट सत्र के मोके पर इनेलो विधानसभा पर विशाल प्रदर्शन करते हुऐ लोगों से जुडे हुए मुद्दों पर विधानसभा का घेराव करने का भी निर्णय लेगी। नेता प्रतिपक्ष ने पार्टी नेताओं की और से रखे गये विभिन्न प्रस्तावों को बैठक में पारित करवाया। इससे पहले विधायक रणवीर गंगवा ने बिजली दर बढ़ौेतरी वापस लेेने,पूर्व कृषि मंत्री जसबिन्द्र सिंह संधू ने धान घोटाले की जांच करवाने, डा. एमएस मलिक ने प्रदेश में बिगडती कानून व्यवस्था को ठीक किये जाने, पूर्व विधायक निशान सिंह ने नरमे-कपास, गवार, बाजरा की फसलों के हुए नुक्सान का मुआवजा देने और  डा. के सी बांगड ने एक प्रस्ताव रखते हुए फसल बीमा योजना को दोषपूर्ण बताते हुए इसे स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट के अनुसार किसानों पर कोई बोझ डाले बिना लागू किये जाने की मांग की गई।
पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि पंचायत चुनाव में या तो इनेलो के प्रत्याशी विजयी हुए है या फिर निर्दलीय चुनाव जीते हैं। जब भाजपा ने कोई उम्मीदवार मैदान में ही नही उतारा था तो फिर किस मुंह से जीत का दावा कर रहे हैे। इनेलो नेता ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस व भाजपा को अपने सिम्बल पर चुनाव लडऩे की चुनौती दी थी लेकिन दोनों ही दल इस चुनौती से भाग गए। श्री अरोड़ा ने कहा कि स्थानीय निकाय चुनाव कांग्रेस व भाजपा अगर अपने सिम्बल पर लड़ेगी तो इनेलो भी सिम्बल पर प्रत्याशी मैदान में उतारेगी। इनेलो नेता ने भाजपा पर जाट आरक्षण के मामले में दोहरे मापदंड अपनाने और भाजपा के सांसद द्वारा एक जाति विशेष के खिलाफ  जहर उगलने और जाटों को गालियां देने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए प्रदेश के वर्षों पुराने भाईचारे को तोडऩे का आरोप लगाया। उन्होंने जाटों के साथ-साथ जट सिख, त्यागी, रोड़ व बिश्रोई जाति को भी आरक्षण दिये जाने की मांग करते हुए कहा कि देश के नवीनतम आर्थिक सर्वेक्षण अनुसार खेती व खेत से जुडे हुए 64 प्रतिशत लोगों की आमदन 5000 से भी कम है। ये पांचों जातियां खेती से जुडी हुई है और सर्वेक्षण में साफ हो गया है कि इन की आमदन मनरेगा के अन्र्तगत काम करने वाले दिहाड़ीदार मजदूरों से भी कम है।
 


Forward  



web counter